Mahashivratri 2022: शिव की महिमा है अपरंपार, महाशिवरात्रि पर जरूर करें ये खास उपाय, सभी कष्टों से निजात मिलने के साथ होगा धनलाभ

Mahashivratri 2022: फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को भगवान शिव को अत्यंत ही प्रिय महाशिवरात्रि का व्रत किया जाता है। वैसे तो पूरे साल आप किसी भी दिन भगवान शिव की आराधना कर सकते हैं। लेकिन महाशिवरात्रि का अपना एक अलग महत्व है। इस दिन भगवान शिव की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करना शुभ माना जाता है।  ऐसे में इस बार 01 मार्च दिन मंगलवार को भोले के भक्त महाशिवरात्रि के त्योहार को मनाएंगे. इस बार महाशिवरात्रि बेहद खास है क्योंकि इस दिन पंचग्रही योग बन रहा है. मान्यता है कि अगर इन शुभ संयोग में शिव जी की पूजा की जाए तो हर मनोकामना की पूर्ति होती हैं और भोलेनाथ की कृपा प्राप्त होती है. मान्यता है कि इस दिन पूजा करने से कई गुना ज्यादा फल की प्राप्ति होती है.

  जानिए उन उपायों और शिव मंत्रों के बारे में जिन्हें महाशिवरात्रि के दिन करने से आपकी सभी इच्छाएं पूरी होंगी।

अगर आप अपने जीवन को खुशियों से भरा देखना चाहते हैं तो  शिव मन्दिर जाकर पहले शिवलिंग पर जलाभिषेक करना चाहिए और फिर चन्दन का लेप लगाना चाहिए। और भगवान शिव के इस मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्रहै- ‘ऊँ शं विश्वरूपाय अनादि अनामय शं ऊँ’

  • अगर आप मानसिक रूप से शांति चाहते हैं तो आपको दूध से हवन करना चाहिए और शिवजी के अघोर मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्र है-

‘ऊँ अघोरेभ्यो अथघोरेभ्यो, घोर घोर तरेभ्यः’

सर्वेभ्यो सर्व शर्वेभ्यो, नमस्ते अस्तु रूद्ररूपेभ्यः’

  • अगर आप विवादों से और षडयंत्र रचने वाले लोगों से बचना चाहते हैं तो  आपको दही से हवन करना चाहिए और भगवान शिव के इस विशेष मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्र है-

‘ऊँ ऐं ह्रीं क्लीं आं शं शंकराय मम सकल जन्मांतरार्जित पाप विध्वंसनाय श्रीमते

आयुःप्रदाय, धनदाय, पुत्रदारादि सौख्य प्रदाय महेश्वराय ते नमः कष्टं घोर भयं वारय वारय

पूर्णायुः वितर वितर मध्ये मा खण्डितं कुरु कुरु सर्वान् कामान् पूरय पूरय शं

आं क्लीं ह्रीं ऐं ऊँ सम संख्याम सावित्रीम् जपेत्-

अगर आप अपने बच्चो की तरक्की चाहते हैं तो महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर एक मुट्ठी बेर चढ़ाने चाहिए और शिवजी के इस मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्र है – ‘ऊँ क्लीं क्लीं क्लीं वृषभारूढ़ाय वामांगे गौरी कृताय क्लीं क्लीं क्लीं ऊँ नमः शिवाय’

अगर आप राजनीति के क्षेत्र में सफलता पाना चाहते हैं तो आपको दूध और घी के साथ अन्न से होम करना चाहिए और शिवजी के त्र्यम्बक मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्र है –

‘ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्

उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्’

अगर आप अपना वैवाहिक जीवन खुशहाल बनाना चाहते हैं तो आपको शिवलिंग पर जल अर्पित करना चाहिए और साथ ही बेल के तने पर थोड़ा-सा घी चढ़ाना चाहिए और साथ ही शिवजी के इस मंत्र का जप करना चाहिए। मंत्र है- ‘ऊँ शिवाय नमः ऊँ’

अगर आप ऑफिस में अधिकारियों के साथ अच्छे रिश्ते बनाना चाहते हैं तो  आपको बालू, राख, गोबर, गुड़ और मक्खन मिलाकर एक छोटा-सा शिवलिंग बनाना चाहिए और उसकी विधि-पूर्वक पूजा करनी चाहिए और पूजा के बाद पूरा दिन सारी चीज़ों को यथास्थान पर रखा रहने दें और अगले दिन शिवलिंग समेत उपयोग की गई सारी चीज़ों को किसी जलाश्य या तालाब में प्रवाहित कर दें और शिवजी के इस मंत्र का जप करना चाहिए। मंत्र है –

‘नमामिशमीशान निर्वाण रूपं

विभुं व्यापकं ब्रह्म वेद स्वरूपं’

  • अगर आप चाहते हैं कि आपको खूब धन-सम्पत्ति मिले और बिजनेस में तरक्की हो तो आपको शिवजी के इस मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्र है– ‘ऊँ शं शिवाय शं ऊँ नमः’, साथ ही आपको मंत्र जप के साथ ही बेलफल से हवन भी करना चाहिये।
  • अगर आप अपने घर पर आई किसी मुसीबत को दूर करना चाहते हैं और घर से कलह दूर करना चाहते हैं तो आपको शिव जी के इस मंत्र का जप करना चाहिए । मंत्र है- ‘ऊँ शं भवोद्भवाय शं ऊँ नमः’ , साथ ही शाम को दिन ढलने के बाद आपको शिव मन्दिर जाकर दीपदान करना चाहिए।

AVS POST Bureau

https://avspost.com

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.